June 22, 2024 5:18 am

Delhi :अपराध की राजधानी में तीन हत्याएं, लूटपाट-रंजिश और उधारी के सिलसिले में गई जान – Delhi: Three Murders In The Capital Of Crime,

Delhi: Three murders in the capital of crime,

प्रतीकात्मक फोटो।
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार

पॉश इलाके जंगपुरा में रहने वाले मेघालय सरकार के एडवोकेट जनरल व सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता के घर में सोमवार शाम को लूटपाट के लिए उनके सहायक कमल की हत्या कर दी गई। आरोपियों ने कमल के शव को बेड में डाल दिया और दूसरे सहायक दीपक को चाकू से वार कर घायल करने के बाद कुर्सी से बांध दिया।

पुराने विवाद के चलते उनके पूर्व सहायक मेरठ निवासी जिरजिस खान ने अपने साथियों के साथ वारदात को अंजाम दिया। दिल्ली पुलिस ने जिरजिस खान को दो साथियों के साथ मंगलवार शाम को गिरफ्तार कर लिया।

दक्षिण-पूर्व जिला पुलिस उपायुक्त राजेश देव ने बताया कि मेघालय के एडवोकेट जनरल अमित कुमार परिवार के साथ जंगपुरा के बी-१७ में रहते हैं। परिवार में अमित कुमार के बुजुर्ग पिता, बेटा, एक बेटी और पत्नी शामिल है। दूसरी और तीसरी मंजिल पर अमित रहते हैं। तीसरी मंजिल की छत पर उन्होंने ऑफिस बनाया हुआ है। इन दिनों अमित कुमार बेटी और पत्नी के साथ हैदराबाद गए हुए हैं। वारदात के समय सोमवार रात उनके पिता और बेटा दूसरी मंजिल पर थे।

दोनों सहायक कमल और दीपक तीसरी मंजिल पर थे। कमल खाना बनाता था, जबकि दीपक अमित कुमार के बुजुर्ग पिता की देखभाल करता है। सोमवार रात कमल बुजुर्ग पिता और बेटे को खाना देने के बाद चला गया था। सोमवार रात करीब 8.30 बजे जिरजिस खान साथियों के साथ पिस्तौल और चाकू लेकर घर में घुस गया।

आरोपियों ने तीसरे फ्लोर पर पहुंचने के बाद अंदर से गेट बंद कर दीपक को कुर्सी से बांध दिया। बांधने से पहले उसकी पीठ पर चाकू से हमला कर घायल कर दिया। आरोपियों ने कमल के हाथ-पैर बांध दिए और प्रेस की तार से उसका गला दबाकर हत्या कर दी और शव को बेड में डाल दिया था।

पहचानने पर की थी हत्या

पुलिस अधिकारियों के अनुसार, जिरजिस खान अधिवक्ता के घर में काम करता था। इस कारण कमल उसे जानता था। ऐसे में जिरजिस खान को लगा कि कमल उसे पहचान लेगा। माना जा रहा है कि इस कारण उसने कमल की हत्या की थी।

बिना पैसे दिए जिरजिस को नौकरी से निकाल दिया था

जिरजिस खान अधिवक्ता के घर बतौर सहायक काम करता था। किसी बात पर अधिवक्ता ने उसे नौकरी से निकाल दिया था। उसे उसकी 10 से 15 हजार रुपये तनख्वाह भी नहीं दी थी। इस कारण उसने अधिवक्ता के घर में लूट की वारदात रची थी। उसे पता था कि अमित कुमार तीसरी मंजिल पर अपने कार्यालय में तिजोरी रखते हैं, पर वह तिजोरी से कुछ लूट नहीं पाया था। 

रंजिश में युवक की चाकू मारकर हत्या

इंद्रपुरी इलाके में रंजिश में एक युवक की चाकू मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज की जांच कर वारदात में शामिल सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। 

मुख्य आरोपी ने खुलासा किया कि पिटाई का बदला लेने के लिए उसने दोस्तों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से दो चाकू और अंगूठी की तरह का एक हथियार और खून से सने कपड़े बरामद किए हैं। गिरफ्तार आरोपियों की पहचान दीपक, मिथुन, राहुल, यश राजौरा, आयुष, विष्णु और अर्पित के रूप में हुई है।

पश्चिम जिला पुलिस उपायुक्त विचित्र वीर ने बताया कि 24 जून की रात 10 बजे इंद्रपुरी इलाके में एक युवक को चाकू मारने की जानकारी मिली। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल युवक को राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया। युवक की पहचान रंजीत के रूप में हुई।

उधार दिए पैसे वापस मांगने पर चाकू से गोदकर हत्या 

समयपुर बादली इलाके में उधार दिए पैसे वापस मांगने पर एक युवक की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई। हत्या करने के बाद आरोपी रानीबाग इलाके में छिपने का प्रयास कर रहे थे। गुप्त सूचना मिलने के बाद बाहरी जिला पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

शुरुआती पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि पैसा वापस नहीं करने पर पीड़ित ने उसके पिता का नाम लेकर गाली-गलौज की थी। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि 23 जून को उनलोगों ने विक्की नाम के युवक की चाकू से गोदकर हत्या की थी। उसके बाद से तीनों अलग-अलग जगहों पर छिपकर रह रहे थे। 

Source link